6 कातिलों को जेल में गुजारनी होगी वाकी की उम्र,मर्डर केश

📝दो भाइयों को उतारा था मौत के घाट अब 06 कातिलों को जेल में गुजारनी होगी वाकी की उम्र

*आजीवन कारावास की सजा*

बुलन्दशहर । बुलन्दशहर जिले के थाना छतारी छेत्र के गांव शेखूपुर निवासी दो सगे भाइयों लखपत व राजवीर की हत्या के आरोपियों को शुक्रवार को अर्थदंड के साथ आजीवन कारावास की सजा सुनायी।
वादी के अधिवक्ता विजय कुमार सिंह ने बताया कि जमीनी विवाद के चलते आरोपी धर्मराज ने अपने छः साथियों श्याम प्रकाश पुत्र नाहर सिंह, रामू पुत्र राजपाल, भोला उर्फ नाहर सिंह निवासीगण शेखूपुर, मनोज पुत्र महीपाल, रंजू पुत्र चन्द्रपाल निवासीगण विधिपुर थाना अतरौली जिला अलीगढ और रूपेश उर्फ रोहित पुत्र पूरनचन्द्र निवासी तोरई अनुपशहर के साथ मिलकर 10 मार्च 2013 को डिबाई तहसील से तारीख करके अपने गांव को लौट रहे बुलन्दशहर के थाना छतारी के गांव शेखूपुर निवासी दोनों सगे भाईयों लखपत व राजवीर की समय करीब 4:30 बजे शाम को नारायनपुर के पास गन्ना क्रय केन्द्र के पास यूपी 81 ए एफ 3977 की टाटा 407 से कुचलकर बड़ी बेरहमी हत्या कर दी थी जिसका मुकदमा सप्तम अपर सत्र न्यायाधीश स
वीरेंद्र कुमार तृतीय के यहां विचाराधीन था मुकदमा के दौरान एक आरोपी रूपेश उर्फ रोहित की मृत्यु हो गई, शुक्रवार को सप्तम अपर सत्र न्यायाधीश वीरेंद्र कुमार तृतीय ने दोनों पक्षों को सुनने के पश्चात बाकी छः आरोपियों को दोषी मानते हुए 10-10 हजार के अर्थदंड के साथ आजीवन कारावास की सजा सुनायी।

समाचार पत्र

आप देख रहे हैं
इंडिया एन० टी० न्यूज

आइए नजर डालते हैं दिनभर की खास खबरो पर

📝 प्राइवेट बस बंद करने पर स्कूली बच्चों ने रोड पर किया हंगामा पुलिस ने मौके पर पहुँचकर मामला किया शांत।

अनूपशहर- बुलंदशहर मार्ग पर प्राइवेट बसों का संचालन बंद होने से आक्रोशित स्कूली बच्चों ने किया हंगामा। स्कूली बच्चों से ओवरलोडिड व बसों की छतों पर स्कूली बच्चों के बैठने पर पुलिस ने बस चालकों को प्रताडित करने व बस को सीज करने के विरोध में शनिवार को बस नहीं चली।जिस पर गर्मी से परेशान घर जाने को बस न मिलने पर बच्चों ने किया था हंगामा। पुलिस ने मौके पर पहुंच समझा बुझाकर बसों से भिजवाकर हंगामा किया शांत। अनूपशहर कस्बे का है मामला

📝 जिला संघचालक के चिकित्सक बेटे से लूट प्रकरण में 15 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली।

अंधेरे में तीर चला रही शिकारपुर पुलिस

बुलंदशहर शिकारपुर कोतवाली क्षेत्र में हथियारबंद बदमाशों ने आर एस एस के जिला संघचालक के बेटे चिकित्सक से नगदी मोबाइल और बाइक लूट प्रकरण में पुलिस को 15 दिन बाद भी कोई सफलता हाथ नहीं लगी है। उधर पुलिस ने घटना के खुलासे के लिए तीन टीमों को लगाया गया है।कोतवाली प्रभारी ने बताया कि पुलिस घटना में काम कर रही है। पुलिस सही बदमाशों को अपनी गिरफ्त में ले लेगी गौरतलब है कि नगर के मौहल्ला सराय पुख्ता निवासी डॉक्टर लक्ष्मी नारायण गुप्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के खुर्जा जिले के संघचालक ने उनका छोटा पुत्र डॉक्टर नितिन गुप्ता सरावा गांव में घनानंद नाम से क्लीनिक चलाता है। शनिवार 28 जुलाई को देर शाम वह अपनी बाइक से शिकारपुर के लिए चला था। तभी बड़ौदा वाली रोड भट्टा के पास बाइक सवार दो बदमाशों ने तमंचा दिखाकर उन्हें रोक लिया चिकित्सक ने भागने का प्रयास किया तो बदमाशों ने गोली मारने की धमकी दी इसके बाद बदमाशों ने चिकित्सक से 5500 रुपए की नगदी एक मोबाइल भी बाइक लूट कर फरार हो गए बाद में चिकित्सक ने एक राहगीर के मोबाइल से परिजनों को घटना की सूचना दी थी उसके बाद परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को दी सूचना पर पुलिस पहुंची पुलिस ने बदमाशों की काफी तलाश की लेकिन कोई सुराग नहीं लगा बदमाशों की मगर सच्चाई यह है कि घटना के 15 दिन बाद भी पुलिस अभी तक अंधेरे में ही तीर चला रही है धरपकड़ के लिए पुलिस काम कर रही हैं।

📝दो भाइयों को उतारा था मौत के घाट अब 06 कातिलों को जेल में गुजारनी होगी वाकी की उम्र

*आजीवन कारावास की सजा*

बुलन्दशहर । बुलन्दशहर जिले के थाना छतारी छेत्र के गांव शेखूपुर निवासी दो सगे भाइयों लखपत व राजवीर की हत्या के आरोपियों को शुक्रवार को अर्थदंड के साथ आजीवन कारावास की सजा सुनायी।
वादी के अधिवक्ता विजय कुमार सिंह ने बताया कि जमीनी विवाद के चलते आरोपी धर्मराज ने अपने छः साथियों श्याम प्रकाश पुत्र नाहर सिंह, रामू पुत्र राजपाल, भोला उर्फ नाहर सिंह निवासीगण शेखूपुर, मनोज पुत्र महीपाल, रंजू पुत्र चन्द्रपाल निवासीगण विधिपुर थाना अतरौली जिला अलीगढ और रूपेश उर्फ रोहित पुत्र पूरनचन्द्र निवासी तोरई अनुपशहर के साथ मिलकर 10 मार्च 2013 को डिबाई तहसील से तारीख करके अपने गांव को लौट रहे बुलन्दशहर के थाना छतारी के गांव शेखूपुर निवासी दोनों सगे भाईयों लखपत व राजवीर की समय करीब 4:30 बजे शाम को नारायनपुर के पास गन्ना क्रय केन्द्र के पास यूपी 81 ए एफ 3977 की टाटा 407 से कुचलकर बड़ी बेरहमी हत्या कर दी थी जिसका मुकदमा सप्तम अपर सत्र न्यायाधीश स
वीरेंद्र कुमार तृतीय के यहां विचाराधीन था मुकदमा के दौरान एक आरोपी रूपेश उर्फ रोहित की मृत्यु हो गई, शुक्रवार को सप्तम अपर सत्र न्यायाधीश वीरेंद्र कुमार तृतीय ने दोनों पक्षों को सुनने के पश्चात बाकी छः आरोपियों को दोषी मानते हुए 10-10 हजार के अर्थदंड के साथ आजीवन कारावास की सजा सुनायी।

📝12 वर्षीय छात्र की बुखार से हुई मौत परिवार में मचा

बुलंदशहर खानपुर कस्बे मे 12 वर्षीय छात्र की बुखार से हुई मौत परिजनों में मचा कोहराम। जानकारी के अनुसार कस्बे के मौहल्ला थाना वार्ड निवासी सगीर सैफी के 12 वर्षीय पुत्र मौहसिन को पॉच दिन पहले बुखार आया था परिजनो ने उसको कस्बे के निजी अस्पताल मे भर्ती कराया फायदा न होने पर गुरूवार को मेरठ के एक अस्पताल मे भर्ती कराया गया शुक्रवार की रात बालक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। जैसे ही रात में बालक का शव घर पहुचा तो परिवार मे कोहराम मच गया। मौहसिन कस्बे के एक स्कूल मे कक्षा 7 मे पढता था।

📝इंगलिश हुकूमत के संस्कृत विद्यालय की छत भर- भरा कर गिरी*

बुलंदशहर। अंग्रेजी हुकूमत में बनाए गए भिक्षानंद सरस्वती विद्यालय की छत जमींदोज हो गई। गनीमत रही कि शनिवार को अवकाश था। अन्यथा बड़ी अनहोनी हो सकती थी।
नगर के डीएवी तिराहा स्थित भिक्षानंद सरस्वती विद्यालय को वर्ष 1944 में बनवाया गया था। इमारत बेहद जर्जर थी। पिछले दिनों बारिश भी हुई थी। इसलिए विद्यालय के दो कमरों की छत भरभराकर आ गिरी। प्रिंसिपल लक्ष्मीकांत बताते हैं स्कूल की बाकी इमारत भी खस्ताहाल है। ये कभी भी गिर सकती है। जिस समय ये हादसा हुआ उस समय स्कूल में कोई नहीं था। बताया गया है कि स्कूल में 60 बच्चे भी पढ़ते हैं। शनिवार होने के कारण बच्चे स्कूल में नहीं थे।वहा मौजूद आस पड़ोस के लोगो ने बताया कि स्कूल की छुटटी के कारण बड़ा हादसा होने से बाल-बाल बचा है । अगर स्कूल की छुट्टी ना होती तो हो सकता था कोई बड़ा हादसा । स्कूल प्रशाशन को जर्जर बिल्डिंग में बच्चों को बिल्कुल भी नही बिठाना चाहिए ।

📝मोबाइल मांगा तो दरांती से कर दिया हमला*

बुुलंदशहर। खानपुर। मोपेड सवार युवकों की जेब से मोबाइल गिर गया। मोबाइल को एक युवक ने उठा लिया । मोबाइल वापस मांगने पर दबंगों ने मोपेड सवार युवकों की पिटाई की। इससे मोपेड स्वर घायल हो गए।
कस्बे के मौहल्ला बागवाला निवासी जमील पुत्र शकील ने थाने मे तहरीर देते हुए बताया कि मैं और मेरा चाचा रहीस पुत्र ननुआ शुक्रवार की शाम को मोपेड पर गॉव बरौली से खानपुर आ रहे थे। जब हम गॉव हिमाबाद पहुचे तो मेरी जेब से मोबाइल गिर गया । जिसको वहॉ मौजूद एक युवक ने उठा लिया । हमने युवक से अपना मोबाइल मांगा तो उसने हमारे साथ मारपीट शुरू कर दी और आवाज लगाकर तीन युवको को और बुला लिया। जिन्होंने हम पर दरॉती व लाठी डन्डों से हमला कर दिया । जिससे हम दोनों चाचा भतीजे घायल हो गए। इस मामले मे थाना प्रभारी राजेश कुमार ने बताया कि दोनों चाचा भतीजों को डॉक्टरी के लिए भेज दिया है तहरीर मिली है जॉच कर कार्रवाई की जाएगी

इंडिया एन० टी० न्यूज
(जिला बुलन्दशहर से)

रिपोर्ट- सतीश कुमार जिला सह-सम्पादक (ब्यूरो चीफ) की खास रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *