विद्यालय में श्री चंद्रशेखर आजाद जयंती पर्व मनाया

सूरजभान सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज शिकारपुर बुलंदशहर में चंद्रशेखर आजाद जयंती का कार्यक्रम मनाया गया

आज 23 जुलाई 2018 दिन सोमवार को शुरू नाम सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज शिकारपुर बुलंदशहर में चंद्रशेखर आजाद वह लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक जयंती का कार्यक्रम मनाया गया इस कार्यक्रम का संचालन हिंदी विभाग के वरिष्ठ आचार्य श्री जितेंद्र कुमार जी तथा इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री प्रभात कुमार गुप्ता जी और इस कार्यक्रम के मुख्य वक्ता श्री बृजेश कुमार तिवारी जी तथा विभाग के वरिष्ठ आचार्य श्री गजेंद्र सिह जी इस कार्यक्रम का प्रारंभ मां शारदे व चंद्रशेखर आजाद तथा बाल गंगाधर तिलक के चित्र पर दीप प्रज्वलन व पुष्पार्चन कर किया गया इस कार्यक्रम में विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने अपने मुखारविंद से चंद्रशेखर आजाद व लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक के जीवन पर प्रकाश डाला तथा छात्र छात्राओं ने दोनों महान व्यक्तित्व की सराहना करते हुए उनके व्यक्तित्व को अपने जीवन में उतारने की शपथ ली इसके पश्चात विद्यालय के वरिष्ठ आचार्य एवं कार्यक्रम के मुख्य वक्ता श्री बृजेश कुमार तिवारी जी ने चंद्रशेखर आजाद के जीवन वृतांत पर गहराई से प्रकाश डालते हुए कहा कि हम अपने जीवन में ऐसे मातृभूमि के के वीर सपूतों के व्यक्तित्व से प्रेरणा लेनी चाहिए कि जिस प्रकार चंद्रशेखर आजाद ने अपने प्राणों की परवाह ना करते हुए देश को स्वतंत्रा दिलाने में अपनी अहम भूमिका निभाई तथा अपने जीवन को अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए अर्पण कर दिया तथा अंत में उन्होंने बताया कि चंद्रशेखर आजाद ने अपने जीवन में कभी भी कठिनाइयों से दूर नहीं हुए तथा कठिनाइयों का सामना करते हुए उन्होंने स्वयं ही अपने चरित्र का परिचय देते हुए सामाजिक कार्यों में तथा देश हित में अपने साथियों के साथ मिलकर के देश को गुलामी की जंजीरों से छुड़ाया और और इतिहास में उनका नाम स्वर्ण अक्षरों में पहचाना जाता है तथा लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक की जयंती के कार्यक्रम के मुख्य वक्ता अंग्रेजी विभाग के वरिष्ठ आचार्य श्री गजेंद्र सिंह जी ने लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक की जीवन पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने बताया कि वह एक ऐसे लोगों पुरुष थे जिन्होंने कभी अपने जीवन की परवाह ना करते हुए आप देश हित में अपने जीवन को अर्पित कर दिया तथा तथा लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक ने इस मातृभूमि की रक्षा की और उन्होंने बताया कि 64 वर्ष की आयु में बाल गंगाधर तिलक जी का स्वर्गवास हो गया आज लोग उन्हें बड़ी श्रद्धा के साथ याद करते हैं और याद करेंगे ऐसे विचारों के साथ उन्होंने अपनी वाणी को विराम दिया
अंत में विद्यालय के प्रधानाचार्य एवं कार्यक्रम के अध्यक्ष महोदय श्री प्रभात कुमार गुप्ता जी ने बताया कि कि विद्यालय प्रांगण में बैठकर जयंती मनाने का आशय यह है कि हमें ऐसे महान व्यक्तित्व से सीख लेकर हमें अपने जीवन में उनका अनुसरण करना चाहिए चंद्रशेखर आजाद तथा लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक ऐसी महान पुरुष इस मातृभूमि की कोख में पैदा हुए हैं जिन्होंने आज हम सब को आजादी दिलाने में अपना जीवन इस मातृभूमि की रक्षा के लिए अर्पण कर दिया तथा उन्होंने छात्र छात्राओं को हमें इस वर्तमान समय में अपनी निष्ठा के साथ कार्य करते रहना चाहिए
इस अवसर पर विद्यालय के आचार्य श्री राम सिंह जी श्री तेजवीर सिंह हिम्मत सिंह जी श्री भावेश कुमार अग्रवाल जी श्री कैलाश चंद जी श्री गजेंद्र मीणा जी गजेंद्र पाल जी श्री राम नरेश शर्मा आदि स्टाफ उपस्थित रहा

रिपोर्ट- सतीश कुमार
सह-सम्पादक बुलन्दशहर उत्तर प्रदेश
इंडिया एन० टी० न्यूज चैंनल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *