धौरऊ(बुलंदशहर)-ग्रामीणों को नहीं मिला पिछले 1 साल से मजदूरी वेतन ,आत्मदाह करने की दी चेतावनी

जनपद बुलंदशहर के तहसील शिकारपुर के धौरऊ गांव का है यह मामला

गांव के ही ग्रामीण मजदूरों ने लगभग 25 दिवस तक लगातार चरागाह की डोरा बंदी का किया था कार्य

ग्रामीण मजदूरों ने तहसील परिसर में परिवार के साथ आत्मदाह करने की दी चेतावनी
प्रशासन की बड़ी लापरवाही से हुआ ग्रामीण मजदूरों आर्थिक शोषण
उत्तर प्रदेश के जनपद बुलंदशहर के तहसील शिकारपुर के गांव धौरऊ पिछले गत वर्ष गांव के लगभग 15 मजदूरों ने जिसमें महिलाएं भी शामिल थी गांव के ही तहसील प्रशासन द्वारा खाली कराए गए चारागाह स्थल में वन विभाग द्वारा व तहसील प्रशासन द्वारा चारागाह स्थल की डोरा बंदी वृक्षारोपण कराया था ग्रामीण मजदूरों का कहना है कि हमें हल्का लेखपाल सत्य प्रकाश सिंह मौके पर मौजूद उप जिलाधिकारी शिकारपुर ने मजदूरी पर बुलाया था और यह कहा था कि मजदूरी हम देंगे मजदूरों का यह कहना है कि हमने यह कार्य गत वर्ष 1 अप्रैल 2017 से 25 अप्रैल 2018 तक किया था लेकिन आज तक 1 साल बीत गई हमें अपना मजदूरी वेतन नहीं मिला है हम मजदूर लोगों को परिवार पालने में कठिनाई हो रही है ऐसी स्थिति में हमने प्रशासन उच्चाधिकारियों से उप जिलाधिकारी शिकारपुर एवं मुख्य विकास अधिकारी बुलंदशहर से शिकायत की थी लेकिन आज तक कोई कार्यवाही व सुनवाई नहीं हो पाई है यदि हमें समय से मजदूरी वेतन नहीं मिलता है तो हम तहसील परिसर में जाकर परिवार के साथ आत्मदाह करेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *